स्टेशन पर हो रही है यात्रियों की तेजी से कोरोना रेंडम टेस्टिंग

कानपुर/अखिलेश मिश्रा : देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए यूपी सरकार ने जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए हैं। वहीं महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, मध्य प्रदेश राज्यों से आने वाले यात्रियों की विशेष नजर रखने को कहा गया है। इस दौरान यात्रियों की कोरोना वायरस टेस्टिंग के साथ ही संक्रमित पाए जाने पर उनके संपर्क में आने वालों की निगरानी करने को भी कहा गया है।


वही कानपुर सेंट्रल स्टेशन में ऐसे राज्यों से आने वाले यात्रियों पर ज्यादा ध्यान दे रहा है। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए रेलवे अधिकारियों ने भी अपनी कमर फिर से कस ली है। बाहर से आने वाले सभी यात्रियों की सेंट्रल स्टेशन सिटी साइट पर कैंप लगाकर कोरोना रेंडम टेस्टिंग मेडिकल टीम द्वारा सभी यात्रियों की करी जा रही है। मेडिकल ऑफिसर नितिन त्रिपाठी बताया कि

रैपिड एंटीजन टेस्ट जरिए से 20 मिनट के अंदर ही कोरोना संक्रमण के वायरस की जांच की जाती है। नाक से स्वैब लिया जाता है। वायरस में पाए जाने वाले एंटीजन का पता चलता ही 1 मार्च से हमारी टीम तीन भागों में यात्रियों की कोरोना रेंडम टेस्टिंग लगातार कर रही हैं। डेली 500 टेस्ट करे जाते हैं। अगर कोई भी संक्रमित पाया जाता है, तो एंबुलेंस के माध्यम से उसे अस्पताल पहुंचा दिया जाता है। टीम में मुख्य रूप से उर्सला मेडिकल ऑफिसर नितिन त्रिपाठी, रोहित, लैब टेक्नीशियन रामचंद्र मौज़ूद रहते हैं।