अकीदतमंदों ने धूमधाम से मनाया इमाम हुसैन का जन्मदिन

कानपुर/फैज़ान हैदर : अल्लाह की तरफ से भेजे गए आखरी नबी हज़रत मोहम्मद के नवासे और हजरत अली के बेटे कर्बला के अजीम शहीद इमाम हुसैन के जन्मदिन की खुशी में आज शहर भर में कई जगहों पर महफिल एवं चरागां कर खुशियां मनाई गई। मस्जिद, इमामबारगाह, घरों और रौजों में महफिलें कर एक-दूसरे को पैदाइश की खुशी में मुबारकबाद दी गई।


लोगों को शरबत वितरड़ करते आकीदतमंत

इस दौरान इमामबारगाह व घरों में सजावट कर अकीदतमंदों ने इमाम हुसैन के जन्मदिन की खुशियां मनाई। घरों मेें अनेकों तरह के पकवान बनाए गए और दस्तर ख्वान सजा कर नवासा-ए-रसूल का यौमे पैदाइश मनाया गया। मसजिदाें में तकरीर के जरिए इमाम हुसैन की शख्सियत पर चर्चा करते हुए उलमा-ए-कराम ने कामयाब जिंदगी गुजारने के लिए उनके बताए रास्ते पर चलने का आह्वान किया। उलमा-ए-कराम ने बताया कि हजरत हुसैन का जीवन सब्र और शुक्र का नमूना है और हमें चाहिए कि उनके जीवन को अपनी जिंदगी के लिए नमूना बनाएं।

दस्तर-ख्वान सजा मनाई यौमे पैदाइश

अकीदतमंदों ने आतिशबाजी की और मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया। इस मौके पर अंजुमन रज़ा-ए-इस्लाम (पटकापुर) के सेक्रेट्री ज़फर हसन (गुड्डू), हाशिम रिज़वी, मुख़्तार सफ़दर, ऐजाज़ रिज़वी, शरद मेहदी, शाब्बे रज़ा, मुज़फ़्फ़र रज़ा, शबीह अब्बास (बबलू), सलमान रिज़वी, मुख़्तार असद, हैदर रिज़वी, रेहान अब्बास, अज़ेन अली अब्बास, मोहम्मद कौसैन रिज़वी (मर्फी), रेहान हसन, मोहम्मद रज़ा (भैया जी), शरीफ खान (गुड्डू), नदीम रिज़वी, शोज़फ़ रिज़वी, मोहम्मद हसन, शबीह अब्बास, मुजाहिद ज़ैदी, शुजा रिज़वी, अली हैदर आदि मौजूद रहे।