भाजपा नेता की पत्नी समेत पूर्व एमएलसी की पुत्रवधु बीडीसी हुई निर्विरोध निर्वाचित

स्टेटडेस्क : पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों को बुधवार को नाम वापसी का मौका दिया गया था। जिसके साथ ही उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न भी आवंटित किए गए है। प्रधान और जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी मुकाबले के लिए तैयार हो गए हैं। वहीं बीडीसी सदस्य के 23 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित होंगे। अब मतगणना के दिन उन्हें जीत का प्रमाण पत्र दिया जाएगा। कल्याणपुर ब्लाक के परगही क्षेत्र पंचायत सीट में तीन लोगों के पर्चा वापसी से पूर्व ब्लाक प्रमुख अनुराधा अवस्थी निर्विरोध बीडीसी सदस्य बन गईं है। अनुराधा को कल्याणपुर क्षेत्र पंचायत प्रमुख पद का दावेदार माना जा रहा है। वह भाजपा से बिठूर सीट से उम्मीदवार रहे दिनेश अवस्थी की पत्नी हैं। अनुराधा अवस्थी के विरुद्ध शिवम् तिवारी, आदित्य सिंह, माया शुक्ला ने पर्चा भरा था। लेकिन तीनों ने बुधवार को नाम वापस ले लिया। शिवराजपुर ब्लाक विकास खंड के नदिहा खुर्द वार्ड से शालिनी सिंह और रानेपुर सरिगवा से उनके पति विजय सिंह तोमर निर्विरोध बीडीसी सदस्य बन गए। वही बिलहन द्वितीय से रानी दुर्गा निर्विरोध बीडीसी सदस्य बनीं।

शिवराजपुर ब्लाक प्रमुख का पद अनारक्षित है जिसमे यह माना रहा है कि विजय सिंह और शालिनी सिंह में ही कोई उम्मीदवार होगा। चौबेपुर विकासखंड में बहलोलपुर से नेहा निर्विरोध बीडीसी सदस्य बनीं। पतारा ब्लाक की बात करें तो गिरसी प्रथम सीट से नीतू और तेजपुर वार्ड 13 से मनोज कुमार भदौरिया निर्विरोध हुए। वही बिधनू ब्लाक के क्षेत्र पंचायत सदस्य कठारा वार्ड 67 से रमेश सिंह यादव निर्विरोध क्षेत्र पंचायत सदस्य बने। हालांकि रमेश की पत्नी बिधनू ब्लाक की निवर्तमान ब्लाक प्रमुख हैं। साथ ही रामखेड़ा ग्राम के वार्ड 41 से राजेंद्र कुमार और मर्दनपुर ग्राम पंचायत के वार्ड 16 से विमलेश देवी को निर्विरोध बीडीसी सदस्य बनने का सौभाग्य मिला। भीतरगांव ब्लाक के देवपुरा वार्ड से विजय यादव और साढ़ तृतीय से सुशीला देवी निर्विरोध बीडीसी सदस्य बनीं। घाटमपुर की ब्लाक प्रमुख देविका सिंह के पति इंद्रजीत सिंह गड़ाथा वार्ड तो परास वार्ड से हर्ष त्रिपाठी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। वही सरसौल ब्लाक के पुरवामीर से डॉ. विजयरत्ना निर्विरोध बीडीसी सदस्य बनीं। डॉ विजय रत्ना ब्लाक प्रमुख पद की दावेदारी करेंगी।

वह पूर्व एमएलसी लाल सिंह तोमर की पुत्रवधू हैं। उन्होंने नसड़ा व पुरवामीर क्षेत्र पंचायत सीट से नामांकन किया था। पुरवामीर में विजयरत्ना की प्रतिद्वंदी स्मिता व सीमा थीं। बुधवार को नामांकन वापसी वाले दिन स्मिता व सीमा ने अपना नाम वापस ले लिया। इसके चलते डॉ. विजयरत्ना निर्विरोध सदस्य बन गईं। बिल्हौर ब्लाक क्षेत्र के सात वार्डों के प्रत्याशी बीडीसी सदस्य पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। वार्ड नंबर 77 बिल्हौर देहात की मनोरमा कठेरिया, वार्ड नंबर 60 शाहमपुर कोट के रणधीर , वार्ड नंबर 56 ददारपुर कटहा की शकुंतला, वार्ड नंबर 47 लालपुर की सीमा देवी, वार्ड नंबर 48 मदारारायगुमान की रोशनी ,वार्ड नंबर 81 जीशान अहमद एवं वार्ड नंबर 83 पूरा की शालिनी बीडीसी सदस्य पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुई हैं। हालांकि उनके निर्वाचन की घोषणा दो मई को की जाएगी।

जिला पंचायत सदस्य पद के 11 उम्मीदवारों ने नाम वापस लिया है। इनमें पडऱीलालपुर से अमित कुमार, रमईपुर से रघुनाथ सिंह , जामू से सुशीला, चौबेपुर से शारदा नारायण पांडेय, नानामऊ से राजेंद्र सिंह, ककवन से रीता, कसिगवां से पुष्पलता कटियार , पतारी से केशव प्रसाद व सुधीर कुमार, बेहटा बुजुर्ग से सुरेंद्र सोनकर, पालीभोगीपुर से वीरेंद्र कुमार शामिल हैं। सरसौल ब्लाक के खरौंटी ग्राम पंचायत से प्रधान पद के लिए देवरानी व जेठानी ने एक – दूसरे के खिलाफ नामांकन कराया था।देवरानी ने अपनी बेटी का भी नामांकन कराया था। ऐसा इसलिए ताकि मां बेटी में किसी एक का पर्चा अगर खारिज हो जाए तो एक मैदान में बनी रहेगी। लेकिन बुधवार को देवरानी ने जेठानी के सम्मान में अपना व अपनी बेटी का पर्चा वापस ले लिया।