कानपुर में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए आज से 30 अप्रैल तक रात 10 से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू

कानपुर नगर (अखिलेश मिश्र )। महानगर में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए कानपुर महानगर में आठ अप्रैल से रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक के लिए कर्फ्यू का आदेश जारी हो गया है । आदेश के तहत आवश्यक सेवाओं और वस्तुओं के परिवहन को छोड़कर रात दस बजे के बाद किसी व्यक्ति या वाहन के आवागमन पर रोक रहेगी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार रात निर्देश जारी कर दिए। इसके बाद कानपुर में भी रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू कर दिया गया। देर रात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद जिलाधिकारी ने रात दस बजे से सुबह छह बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया।


हालांकि इस दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े परिवहन पर रोक नहीं होगी। 12 वीं कक्षा तक के सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे किन्तु जिन स्कूलों में परीक्षायें या प्रैक्टिकल चल रहे हैं। वह यथावत जारी रहेंगे । यह आदेश 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा। जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने बताया कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 12वीं तक के स्कूल बंद करने के आदेश दिए गए हैं। हालांकि जहां परीक्षाएं चल रही हैं वहां कोविड गाइड लाइन के हिसाब से परीक्षा संचालित हो सकेंगी। जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने बताया कि कानपुर में रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है। कानपुर कमिश्नरेट के अलावा कानपुर आउटर में भी रात्रिकालीन कर्फ्यू रहेगा। यह व्यवस्था सात अप्रैल से ही लागू कर दी गई है। इस दौरान केवल आवश्यक सेवाओं जैसे एंबुलेंस और आवश्यक वस्तुओं जैसे दूध, सब्जी, फल, दवा, पेट्रोलियम आदि को ले जाने वाले वाहनों का परिवहन हो सकेगा। निजी वाहनों का प्रयोग पूरी तरह से बंद रहेगा। सुबह छह बजे से रात दस बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ कामकाज होते रहेंगे।

जिलाधिकारी ने बताया कि यह व्यवस्था 30 अप्रैल तक लागू रहेगी। इसके बाद हालातों को देखते हुए आगे का फैसला लिया जाएगा। कोविड गाइडलाइन के मुताबिक रात्रि कालीन शिफ्ट में काम करने वाले सरकारी और अर्ध सरकारी कर्मचारियों को रात्रि में आवागमन की छूट मिलेगी। लेकिन इस दौरान उन्हें अपना परिचय पत्र दिखाना होगा। वहीं रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट से आने-जाने वाले अपना टिकट दिखाकर आ-जा सकेंगे। इस आशय का आदेश जिलाधिकारी श्री आलोक तिवारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद जारी किया।