शिक्षा के साथ स्वरोजगार युक्त : राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

कानपुर/फैज़ान हैदर : दयानंद गर्ल्स पीजी कॉलेज कानपुर में शिक्षा शास्त्र विभाग द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं मूल्य परक शिक्षा विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ डॉ स्वाति सक्सेना ने दीप प्रज्वलित कर किया।

डॉ स्नेह लता पाठक (विशिष्ट वक्ता) देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार ने मूल्य शिक्षा के विषय में कहा कि शिक्षा के बजाय उस विद्या पर बल दिया जाए जो मानव को श्रेष्ठ मानव बनाए, जो दया सहयोग, सहिष्णुता, परोपकार, संवेदनशीलता से युक्त हो और राष्ट्र के लिए उत्तम नागरिक तैयार करें। डॉ निशा अग्रवाल (विशिष्ट वक्ता) प्राचार्या एसएन सेन पीजी कॉलेज द्वारा नई शिक्षा नीति के प्रमुख बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा की राष्ट्रीय शिक्षा नीति मूल्यपरक होने के साथ विभिन्न विषयों की समावेशी शिक्षा आज के दौर में महत्वपूर्ण है, जो जीविकोपार्जन के साथ-साथ मानव का निर्माण कर सकें।

सेमिनार अटेंड करती छात्राएं

प्राचार्या डॉ साधना सिंह ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और डॉ निवेदिता टंडन, डॉ सुमन सिंह, डॉ मधुलिका हितकारी, डॉ पप्पी मिश्रा, डॉ दीपाली सक्सेना, डॉ स्नेह पांडे, डॉ जेपी गुप्ता एवं डॉ शशि रानी अवस्थी कार्यक्रम में सहभागी रहें।