15.1 C
Delhi
Homeउत्तर प्रदेशकानपुरश्री गुरु सिंह सभा ने सीएम योगी से की विधायक अभिजीत सिंह...

श्री गुरु सिंह सभा ने सीएम योगी से की विधायक अभिजीत सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग

- Advertisement -

कानपुर /बीपी टीम : श्री गुरु सिंह सभा कानपुर महानगर की आपातकालीन बैठक में सभा के चेयरमैन व पूर्व एम0एल0सी0 सरदार कुलदीप सिंह की अध्यक्षता में सभा के कैंप कार्यालय अशोक नगर में सम्पन्न हुई। बैठक में कानपुर के शांतिपूर्ण माहौल को कुछ नेताओं द्वारा खराब करने की कड़े शब्दों में निंदा की गयी।

वक्ताओं ने कहा कि देश को उन्नति के पथ पर ले चलने और विश्व गुरु बनाने का प्रधानमंत्री का सपना साकार करने के लिए शांति व भाई चारे का माहौल स्थापित करने की आवश्यकता है। साम्प्रदायिकता और जाति के अलाव जलाकर देश भक्ति का माहौल पैदा नहीं किया जा सकता बल्कि यह देश को कमजोर बनाता है जिससे देश की आत्मा आहुत होती है। सभा मांग करती है कि इस बुराई को सख्ती से दबाया जाए।

श्री गुरु सिंह सभा कानपुर महानगर प्रधानमंत्री की सभा के मार्ग में व्यवधान को दुर्भाग्यपूर्ण मानती है और मानती है कि प्रधानमंत्री को किसी भी राजनैतिक दल की परिधि में नहीं लाना चाहिये। फिर भी प्रधानमंत्री के प्रकरण पर जो नेता पंजाब और सिख समाज की देशभक्ति को संदिग्ध मानकर प्रतिकूल टिप्पणी कर रहे हैं उन्हें चेतावनी दी जाती है कि वह यह न भूले कि पंजाब देश का अभिन्न अंग है और सिख देश को संगठित देखने के लिए अपने रक्त की एक-एक बूंद देने के लिए हमेशा तैयार है।

श्री गुरु सिंह सभा कानपुर महानगर ने अपने विधि सेल के माध्यम से विधायक अभिजीत सिंह सांगा के अपत्तिजनक ट्वीट के आधार पर सिखों की भावनाओं को आहत करने ओर पंजाब के बाहर रह रहे सिखों में असुरक्षा की भावना पैदा करने और दंगा भड़काने का षड़यंत्र रचने के आरोप में तहरीर तैयार की है। इसी के आधार पर विधायक सांगा और ट्वीटर अकाउंट बन्द न करने पर ट्वीटर के कार्यकारी अधिकारी के खिलाफ प्राथ्मिकता दर्ज कराने का निर्णय लिया है। साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से मांग की है कि विधायक अभिजीत सिंह के ट्वीट ने शहर की आतंरिक व्यवस्था के लिए खतरा पैदा किया है। एैसे व्यक्ति को पार्टी को बाहर का रास्ता दिखाना चाहिये।

उत्तर प्रदेश मर्यादा पुरुषोत्तम राम की नगरी है यहाँ अमर्यादित राजनीति पर जीरो टालरैंस की नीति रही है। श्री गुरु सिंह सभा कानपुर महानगर शासन व प्रशासन से मांग करती है कि वह अपने स्तर से अमर्यादित भड़काऊ ट्वीट करने और देश के साम्प्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने और विभिन्न धर्मों के लोगों के बीच विद्वेष पैदाकर अपस में भड़काने जैसे कार्य करने वालों के खिलाफ अपने स्तर से देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराये और सख्त कार्यवाही करें।

यह भी पढ़े ..

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -