29.1 C
Delhi
Homeउत्तर प्रदेशकानपुर का नीरव मोदी न बन जाए उदय देसाई

कानपुर का नीरव मोदी न बन जाए उदय देसाई

- Advertisement -

-सुप्रीम कोर्ट में बेल एप्लिकेशन है पेंडिंग पर शहर की अदालत से ले आया जमानत
-दिल्ली से लेकर लखनऊ तक के अफसर ढूंढ रहे हैं हजारों करोड़ के बैंक फ्राड करने वाले को

कानपुर: चार हजार करोड़ के बैंक फ्राड में जेल की हवा खा रहे आर्थिक अपराध के आरोपी बड़े कारोबारी उदय देसाई को तलाशने में तमाम अफसरों के माथे पर पसीना आ गया है। उदय स्थानीय अदालत को चकमा देकर जमानत पर बाहर आ चुका है और अफसरों को शक है कि कहीं वो नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की तरह देश छोड़ कर भाग न जाए। उदय देसाई का ‘हाई सी’ बिजनेस है। एक देश से दूसरे देशों को खाद्यान्न, लोहा, कंप्यूटर्स बेचता था।

उदय देसाई की तलाश में शहर में हड़कंप मचा हुआ है। उदय चार हजार से अधिक के तथाकथित बैंक फ्राड के कारण लम्बे अरसे से कानपुर की जेल में बंद है। शहर के ही उद्योगपति विक्रम कोठारी के साथ उदय देसाई भी पंजाब नेशनल बैंक से लोन लेकर चुका न पाने और आर्थिक अपराध करने का आरोपी है। उसके कोठारी से घपले में लिंक तीन-चार साल पहले मिले थे। उदय को लुक आउट नोटिस जारी हो चुका है।

बीते साल कोविड पैनडमिक के कारण जब सरकार ने फैसला लिया था कि देश की ओवर क्राउडेड जेलों से तमाम कैदियों को पेरोल पर या जमानत पर रिहा किया जाए ताकि जेलों में कोरोनावायरस फैलने से रोका जाए तब भी और इस बार की दूसरी लहर के समय भी ऐसा निर्णय सरकार द्वारा लिए जाने पर दोनों ही बार उदय देसाई ने जमानत कराने का प्रयास किया पर गम्भीर आर्थिक अपराध करने के कारण उसकी जमानत हाई कोर्ट से रिजेक्ट हो गई। उसने सुप्रीम कोर्ट में भी अपनी बेल एप्लिकेशन लगा रखी है जो अभी तक पेंडिंग है।

पर इसी बीच उदय देसाई ने स्थानीय अदालत से तमाम तथ्यों को छिपा कर जेल से मिली भगत कर 22 जून को जमानत हासिल कर ली और जेल से बाहर आ गया। इस बीच उसके वकील ने सुप्रीम कोर्ट को निचली अदालत से मिली जमानत का हवाला देकर अपनी जमानत आगे बढ़ाने और पुख्ता इंतजाम करने के चक्कर में एक एफीडेविट लगाया। चूंकि उदय का बैंक फ्राड बड़ा है तो कोर्ट ने जांच कर रही एजेंसी दिल्ली की सीवियर फ्राड इंवेस्टीगेशन आफीसर के कार्यालय से इस बाबत पड़ताल की तो सीआईएफओ ने अपने आधीन कानपुर की कारपोरेट बेंच से जमानत की डिटेल मांगे। तब कहीं जाकर स्थानीय स्तर पर इस सनसनीखेज प्रकरण का खुलासा हुआ।

फिलहाल शहर में उदय देसाई को लेकर गहमागहमी है और उसके साथ-साथ उसके पासपोर्ट और निकट के लोगों की पड़ताल चल रही है।।।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -