कमलेश तिवारी हत्याकांड में आरोपी यूसुफ खान की जमानत अर्जी को हाईकोर्ट ने किया खारिज

स्टेटडेस्क : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के आरोपी युसूफ खान को बड़ा झटका लगा है। हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया है। हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने आदेश में कहा है कि यूसुफ खान का आपराधिक इतिहास लंबा है। याची के कृत्य से यूपी की कानून व्यवस्था को नुकसान पहुंचा है। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने उसकी जमानत की अर्जी को खारिज करते हुए उसे रिहा करने से इंकार कर दिया।


बता दें वर्ष 2019 में लखनऊ के नाका हिंडोला थाना क्षेत्र में कमलेश तिवारी की उनके घर में घुसकर जघन्य तरीके से हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने यूसुफ खान को हमलावरों को हथियार मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया था। कोर्ट में जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान शासकीय अधिवक्ता ने कहा कि साजिश में यूसुफ खान का भी हाथ था। उसने हमलावरों को हथियार उपलब्ध कराए थे। अधिवक्ता ने बताया कि आरोपी के खिलाफ 10 केस पहले से चल रहे हैं। उसकी वजह से ही कानून व्यवथा खराब हुई। ये जमानत पर रिहा किए जाने लायक नहीं है।

इसके बाद कोर्ट ने याची के वकील की तरफ से दिए गए सभी तर्क दरकिनार करते हुए कहा कि आरोपी के आपराधिक इतिहास और उसकी अपराध में संलिप्तता को देखते हुए जमानत पर रिहा करने का अच्छा आधार नहीं है इसलिये जमानत की अर्जी खारिज की जाती है।