पंचायत चुनाव के चौथे चरण को लेकर थमा प्रचार, तीसरे चरण के 22 बूथों में होगा पुनर्मतदान

स्टेटडेस्क/आशुतोष त्रिपाठी । यूपी में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के मतदान 26 अप्रैल को हुए थे। जिसमे से प्रेक्षकों की रिपोर्ट के आधार पर 22 केंद्रों पर पुनर्मतदान कराया जाएगा। वहीं चौथे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार मंगलवार की शाम थम गया। 29 अप्रैल को बुलंदशहर, हापुड़, संभल, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, फर्रुखाबाद, बांदा, कौशांबी, सीतापुर, अंबेडकर नगर, बहराइच, बस्ती, कुशीनगर, गाजीपुर, सोनभद्र व मऊ आदि 17 जिले में मतदान होना है।


राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार के अनुसार जिन 22 केंद्रों पर पुनर्मतदान कराने का निर्णय लिया गया है। जिसकी तिथि बाद में घोषित की जाएगी। जिन 20 जिलों के 22 केंद्रों पर पुनर्मतदान होना है। जिसमे बलिया जिले में 11 बूथ व अमेठी और फतेहपुर में चार-चार बूथ वही चंदौली में दो तथा फीरोजाबाद में एक बूथ पर पुनर्मतदान होंगे। हालांकि 29 अप्रैल को अंतिम चरण में 17 जिलों में मतदान होना है। वहां मंगलवार शाम को चुनाव प्रचार थम गया है। चौथे चरण के 728 जिला पंचायत सदस्य सीटों के लिए 11, 256 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किए गए है। वही 18356 क्षेत्र पंचायत सदस्य सीट के लिए 85,398 उम्मीदवारों ने पर्चे भरे है। ग्राम प्रधान के 14111 पदों के लिए 123055 नामांकन किए गए है। ग्राम पंचायत सदस्य पदों के 177648 पदों के लिए 5316510 नामांकन जमा हुए थे।

जिसमे से 1,388 उम्मीदवार मैदान से हट गए। जिन जिलों में गुरुवार को वोटिंग होनी है। जिसमे से अंबेडकरनगर, अलीगढ़, कुशीनगर, कौशांबी, गाजीपुर, फर्रुखाबाद, बुलंदशहर, बस्ती, बांदा, बहराइच, मथुरा, मऊ, शाहजहांपुर, संभल, सीतापुर, सोनभद्र व हापुड़ जिला शामिल हैं। आपको बता दें कि महामारी के बढ़ते प्रकोप के बावजूद पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में भी मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला है। बीते सोमवार को कानपुर देहात, मेरठ, मुरादाबाद व अमेठी सहित प्रदेश के 20 जिले में कई स्थानों पर हिंसक वारदात हुई थी। हालांकि मतपेटियां लूटने जैसी घटनाओं के बीच औसतन 73.5 प्रतिशत मतदान हुआ। कोविड गाइडलाइंस का उल्लंघन करने व मतदान कर्मियों की मनमानी की शिकायतें भी मिलती रही है। अधिकतर स्थानों पर निर्धारित समय छह बजे के बाद भी वोट डाले गए। 3.5 लाख से अधिक उम्मीदवारों का भविष्य मतपेटियों में बंद है।