अजीत हत्याकांड के राज खोलेगा शूटर राजेश, लखनऊ पुलिस की कस्टडी रिमांड पर

स्टेटडेस्क : मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या का आरोपी शूटर राजेश तोमर को गुरुवार से पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेगी। आरोपी की 20 घंटे की रिमांड मिली है। संयुक्त पुलिस आयुक्त निलाब्जा चौधरी के मुताबिक आरोपी से पश्चिमी उत्तर प्रदेश और सुनील राठी से संबंधों के बारे में पूछताछ की जाएगी। राजेश कुख्यात सुनील राठी का अत्यंत करीबियों में है। ऐसे में पता किया जा रहा है कि अजीत हत्याकांड में और कौन-कौन शामिल हैं।


पुलिस इस मामले में सुनील राठी के कनेक्शन की भी पड़ताल करेगी। राजेश एक गैंगवार में गोली लगने से घायल हुआ था तब उसका इलाज पूर्व सांसद के कहने पर किया गया था। राजेश तोमर को पुलिस उन स्थानों पर लेकर जाएगी जहां पर उसका इलाज किया गया था। यही नहीं राजेश को सुलतानपुर के नर्सिंग होम में भी ले जाया जा सकता है। पुलिस यह पता लगाएगी कि राजेश कब से धनंजय सिंह के संपर्क में था। उसने पूर्व में कौन कौन सी घटनाओं को अंजाम दिया है। पुलिस आरोपित के पास से वारदात में इस्तेमाल असलहा और स्कूटी बरामद करने का प्रयास करेगी। राजेश कई अन्य लोगों के नाम भी उजागर कर सकता है।

पुलिस को शक है कि अजीत हत्याकांड की साजिश में अन्य लोग भी शामिल थे। गौरतलब है कि छह जनवरी को अजीत सिंह की विभूतिखंड में कठौता चौराहे के पास गैंगवार में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अजीत सिंह आजमगढ़ के विधायक रहे सर्वेश सिंह हत्याकांड में गवाह थे। इस मामले में पुलिस ने धनंजय सिंह को साजिश का आरोपित बनाया था। धनंजय पर 25 हजार का इनाम है और वह पुलिस की लापरवाही से फरार है।