31.1 C
Delhi
Homeइटावा29 साल से सैफई में सपा का वर्चस्व बरकरार, लालू प्रसाद यादव...

29 साल से सैफई में सपा का वर्चस्व बरकरार, लालू प्रसाद यादव की समधन बनीं निर्विरोध सैफई ब्लाक प्रमुख

- Advertisement -

स्टेट डेस्क / अनू अस्थाना: समाजवादी पार्टी का गढ़ माने जाने वाले सैफई में ब्लाक प्रमुख पद पर ज्यादा रस्साकसी की नौबत नहीं बनी। यहां पर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू एवं राजग नेता लालू प्रसाद यादव की समधन मृदुला यादव निर्विरोध निर्वाचित हो गईं। रिटर्निंग ऑफीसर ने उन्हें प्रमाण पत्र भी सौंप दिया। सैफई ग्राम पंचायत चुनाव में भी प्रधान सीट आरक्षित होने पर भी मुलायम परिवार से जुड़े रामफल बाल्मीकि ने जीत हासिल की थी।

मुलायम परिवार का सैफई ब्लाक प्रमुख सीट पर 29 साल से वर्चस्व बरकरार है। 1992 में सैफई को ब्लाक का दर्जा मिला था, इसके बाद 1995 में हुए चुनाव में मुलायम सिंह यादव के भतीजे रणवीर यादव निर्विरोध बीडीसी चुने गए थे। वर्ष 2002 में उनके देहांत के बाद मुलायम सिंह के दूसरे भतीजे बदायूं के पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव सीट से ब्लाक प्रमुख बनते रहे। इस बार प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने पर सैफई सीट पर सबकी निगाहें टिकी थीं। पंचायत चुनाव में मुलायम परिवार से जुड़े रामफल के प्रधान बनने के बाद अब ब्लाक प्रमुख सीट पर उनकी बहू निर्विरोध निर्वाचित हो गई हैं। इस पंचायत चुनाव में मृदुला यादव दूसरी बार निर्विरोध बीडीसी सदस्य निर्वाचित हुई थीं।

मृदुला यादव सैफई महोत्सव के संस्थापक रणवीर सिंह यादव की पत्नी व मैनपुरी के पूर्व सांसद तेज प्रताप यादव की मां हैं। उन्होंने गुरुवार को दो सेटों में नामांकन किया था। उनके खिलाफ कोई भी नामांकन नहीं आया था। गुरुवार को ही उनके निर्विरोध चुने जाने का रास्ता साफ हो गया था। शुक्रवार को रिटर्निंग आफीसर अशोक कुमार गुप्ता द्वारा ब्लाक कार्यालय में उन्हें प्रमाण पत्र दिया।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -