बर्खास्त सिपाही ने कहा-लगातार तीन हत्याएं करूंगा, पुलिस रोक सके तो रोक लें

-पुलिस लाइन में हंगामा कर एसपी को जान से मारने की दी धमकी



यूपी डेस्क/गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के कप्तानगंज थाने से बर्खास्त सिपाही दिग्विजय राय ने सोशल मीडिया पर वीडियो लोड कर गोरखपुर में तीन हत्या करने की खुली चुनौती देकर सनसनी फैला दी। जिसके बाद उक्त सिपाही की तलाश शुरू कर दी गई है।
कैंट पुलिस ने मोहद्दीपुर चौकी इंचार्ज की तहरीर पर धमकी देने और आईटी एक्ट की धारा में केस दर्ज कर उक्त सिपाही की तलाश शुरू कर दी है। जिसमें क्राइम ब्रांच को भी लगाया गया है। साइबर सेल और सर्विलांस टीम की मदद से सिपाही के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार ऐसा ही वीडियो बस्ती में भी उसने वायरल किया था, जिस पर वहां की पुलिस ने भी केस दर्ज किया है।
मिली जानकारी के मुताबिक, कुशीनगर जिले के तरयासुजान के बसडीलामुनाकर निवासी सिपाही दिग्विजय राय कप्तानगंज थाने में तैनात था। पिछले साल तीन और चार दिसंबर को इसकी ओर से पुलिस लाइंस में अधिकारियों के बारे में कई अमर्यादित टिप्पणी की थी।
10 दिसंबर को वापस आने के बाद आरोपी सिपाही ने पुलिस लाइंस में हंगामा खड़ा कर दिया, कुर्सियां तोड़ी। इसके बाद फिर फेसबुक पर लाइव होकर एक अमर्यादित पोस्ट डाल दी। इस मामले का संज्ञान लेते हुए एसपी हेमराज मीणा ने उसे बर्खास्त कर दिया। जिसके बाद दिग्विजय ने एसपी को जान से मारने की धमकी दी।
इसके बाद अधिकारियों के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर कप्तानगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर उसे जेल भेजा था। दो दिन पहले दिग्विजय ने फेसबुक पर लाइव होकर गोरखपुर पुलिस को चैलेंज देते हुए कहा कि शहर में लगातार तीन हत्या करेगा, अगर दम है तो रोक ले। 14 फरवरी को मोहद्दीपुर में पहली हत्या करेगा। हत्या किसकी और क्यों करेगा यह बाद में ही पता चलेगा।
वीडियो वायरल होने के बाद गोरखपुर पुलिस ने सिपाही की खोजबीन शुरू कर दी। डीआइजी/एसएसपी जोगिंदर कुमार के आदेश पर मोहद्दीपुर चौकी प्रभारी अरविंद सिंह ने बर्खास्त सिपाही के खिलाफ धमकी और आईटी एक्ट का कैंट थाने में केस दर्ज कराया। सीओ कैंट सुमित शुक्ला ने बताया है कि वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए धमकी देने और आईटी एक्ट में केस दर्ज कर सिपाही की जोर- शोर से तलाश की जा रही है।