यूपी में इंटरनेट पर अश्लील सामग्री देखने वालों की अब खैर नहीं

-टीम इस बारे में 1090 टीम को बता देगी, जो ऐसे लोगों को करेगी सचेत

सेंट्रल डेस्क/लखनऊ : उत्तर प्रदेश में इंटरनेट पर अश्लील सामग्री देखने वालों की अब खैर नहीं है। ऐसे लोगों पर अब 1090 की एक टीम नजर रखेगी। ऐसे लोगों को सचेत किया जाएगा। इसी के साथ महिलाओं तक भी अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए 1090 समय-समय पर जागरूकता संदेश और मेसेज सोशल मीडिया पर हर प्लेटफॉर्म के माध्यम से भेजेगा।

एक संवाददाता सम्मेलन में एडीजी नीरा रावत ने बताया कि इंटरनेट के बढ़ते हुए प्रयोग को देखते हुए 1090 ने भी लोगों तक पहुंचने के लिए इसी माध्यम का प्रयोग किया। यूपी में डिजिटल चक्रव्यूह (महिला सुरक्षा के लिए 360 डिग्री इकोसिस्टम) के लिए एक डिजिटल आउटरीच रोडमैप तैयार किया गया है।

एडीजी नीरा रावत ने बताया कि इंटरनेट के एनालिटिक्स को स्टडी करने के लिए oomuph नाम की एक कंपनी रखा गया है। जो डेटा के माध्यम इंटरनेट पर क्या सर्च किया जा रहा है, इस पर नजर रखेगी। अगर कोई व्यक्ति इंटरनेट पर अश्लीलता देखते है तो उसके संकेत एनालिटिक्स टीम को मिल जाएंगे। टीम उसके बारे में 1090 टीम को बता देगी। 1090 की टीम उस व्यक्ति को ऐसी सामग्री से सचेत रहने के लिए जागरूकता के मेसेज भेजेगी। इससे अपराध की शुरुआत पर ही रोक लगाई जा सकेगी।

एडीजी नीरा रावत के मुताबिक इस पूरी योजना का नाम (हमारी सुरक्षा) दिया गया है। इस योजना के तहत प्रदेश के सभी इंटरनेट यूजर तक पहुंचने का टारगेट रखा गया है। इस योजना को चरणबद्ध तरीके से पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा। आने वाले समय में 1090 सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म पर मौजूद रहेगा और अलग-अलग सोशल मीडिया के यूजरों तक इसकी पहुंच होगी। सोशल मीडिया पर प्रसारित किए जाने वाले मेसेज और संदेश भी तैयार किए गए हैं।