उन्नाव रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर जिलाधिकारी ने दिये सम्बन्धित को आवश्यक दिशा निर्देश

उन्नाव/प्रतिनिधि : जिलाधिकारी श्री रवीन्द्र कुमार द्वारा बढते हुये कोरोना सक्रमण को देखते हुये उन्नाव रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र राज्य से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग व सेंपलिंग जांच हेतु 01 मार्च 2021 से शिफ्ट वार तीन टीमें लगाई गई थी। जिसका निरीक्षण आज जिलाधिकारी द्वारा स्वयं उन्नाव रेलवे स्टेशन पहुॅचकर किया गया।


जिस पर जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेन पुणे से गोरखपुर जो कि रविवार को रात्रि में उन्नाव स्टेशन पर पहुंचती है, राप्तीसागर सुबह 09ः00 बजे बृहस्पतिवार,मंगलवार शुक्रवार को, कुशीनगर ट्रेन रात्रि 12ः45 बजे प्रत्येक रात्रि तथा पुष्पक सुबह 7ः20 बजे प्रतिदिन उन्नाव रेलवे स्टेशन पहॅुचती है।

जिलाधिकारी द्वारा मौके पर उपस्थित मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आशुतोष कुमार को रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र राज्य से आने वाली ट्रेनों के समस्त यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग व सेंपलिंग (आर0टी0पी0सी0आर0) जांच कराने हेतु चिकित्सा विभाग की तीन टीमें लगाकर जिसमें प्रथम टीम प्रातः 8ः00 बजे से अपराहन 2ः00 बजे तक दूसरी टीम अपराहन 2ः00 बजे से रात्रि 8ः00 बजे तक तीसरी टीम रात्रि 8ः00 बजे से सुबह 8ः00 बजे तक कर्मठता पूर्वक कार्य कराये जाने हेतु निर्देशित किया।

उन्होंने कहा कि हेल्प डेस्क बोर्ड अवश्य लगवायंे। जितने भी यात्री यात्रा कर स्टेशन पर पहुॅचते हंै उनकी कोरोना संक्रमण की जाॅच अवश्य करायी जाए साथ ही पॉजिटिव केस जितने आते हैं उन्हें सरस्वती मेडिकल कॉलेज भिजवाया जाए। तत्पश्चात उन्होंने राजकीय महिला चिकित्सालय, सहजनी का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान महिला चिकित्सालय में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ऋचा अनुपस्थित पाई गईं तथा निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने ओ0पी0डी रजिस्टर भी चेक किया जिसमें डा0 की लिखावट न होने तथा अधीनस्थ स्टाॅफ द्वारा ओ0पी0डी0 रजिस्टर भरे जाने पर नाराजगी व्यक्त की।

जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को प्रभारी चिकित्सा अधिकारी का वेतन रोकने के निर्देश देते हुए उनको महिला चिकित्सालय, सहजनी से हटाकर अन्यत्र फेरबदल करने हेतु निर्देशित किया। महिला चिकित्सालय में कोरोना वैक्सिनेशन हेतु आयी हुयी महिलाओं से बातचीत करते हुए उन्होंने वैक्सीन को लेकर चर्चा की उन्होंने पूछा कि किसी को किसी भी प्रकार की समस्या तो नहीं है चिकित्सक उपस्थित मिलते हैं या नहीं।

जिलाधिकारी ने वहां की नर्स को लोगों की मदद करने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा अनावश्यक आरोप लगाकर लोगों को चिकित्सालय से वापस ना करें, उनका वैक्सिनेशन अवश्य करें। शासन की गाइड लाइन के अनुसार यदि व्यक्ति को किसी प्रकार की बीमारी है तो ओपीडी के पर्चे पर लिखकर वैक्सीन लगाएं। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को राजकीय महिला चिकित्सालय परिषर की साफ-सफाई करवाने व मुख्य द्वार पर बोर्ड लगवाने हेतु निर्देशित किया।

तत्पश्चात जिलाधिकारी द्वारा जाजमऊ पुल पर हो रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर जायजा लिया गया। उन्होंने संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कार्यों को सावधानी पूर्वक स्वयं उपस्थित होकर करवायें। पूरे इलाके का कार्य होता दिखना चाहिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री रवीन्द्र कुमार व समस्त सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित रहे।