थम गई धार, नवजीवन मांग रही पारौणिक सई

मोहान/उन्नाव/शिवम शुक्ला : लाखो लोगो की आस्था का केंद्र बनी पतित पावन सई नदी खुद नवजीवन की मांग कर रही है। प्रदूषण और गंदगी की बनी शिकार व शिल्ट से जमा सई का मुद्दा उठाने वाला कोई भी जनप्रतिनिधि नही है। अन्य नदियों की तरह सई का भी अपना एक महत्व है।


विद्वानों की माने तो सई का ऐतिहासिक व धार्मिक महत्व कम नहीं है। वन से वापस आते समय भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण ने जिस सई में स्नान कर रावण से युद्ध में की गई गलतियों से अपने को पवित्र किया, यह ऐतिहासिक नदी अब अपनी पवित्रता एवं स्वच्छता ही नहीं बल्कि अस्तित्व खोने की कगार पर है। नदी से नाला का रूप ले रही सई कि कल-कल करते निकलने वाली धारा से चल रही है। कहीं-कहीं तो इतना सूख गई है कि लोग बालू की रेत पर चलकर पैदल ही नदी पार हो रहे हैं।

पूरे वर्ष बहा करती थी नदी
अधिकांश गांव सई नदी की तलहटी के किनारे ही बसे हैं| यहां के बुजुर्ग बताते हैं कि पहले पूरे वर्ष भर सई नदी बहा करती थी, आज हालात यह है कि गर्मी के शुरुआत में ही निचले स्तर पर नदी सूख जाती है। जिसके कारण सभी मछलियां और जलीय जीवो की मौत भी हो जाती हैं।

नदी सूखने से घट जाता गांवों का जल स्तर पेय जल का मंडराता संकट
जनपद की लगभग आधा सैकड़ा से अधिक ग्राम पंचायतें सई नदी की तलहटी पर बसी हुई हैं, नदी सूखने से वाटर लेबिन कम व गांव में पानी का संकट मंडरायाकरता है।

55 ग्राम पंचायतें है नदी के पास मंडराता है जल संकट
रसूलपुर, बकिया, हसनगंज, ऊंचगांव, फखरूदीनमऊ, नेपालपुर, दरिहट, अहमदपुर टकटोली, पाठकपुर, बाशोखा, मुहम्मदपुर, मिर्जापुर अजिगवा, इनायतपुर बर्रा, अलीपुर, मिचलौला, उटरा डकौली, कबरोई, लोधिटिकुर, सरौद, सैयदापुर, पुराचंद व दीपवल, बाल्हेमऊ, सरौती, बजेहरा, हसनापुर, कोटवा, गोरेन्दा, सहित अन्य ग्राम पंचायतें सई की सीमावर्ती है

नगर पंचायतों के गिरते है नाले व कूड़ा
नदी में नगर पंचायत मोहान के दो नाले व औरास सहित अन्य जगहों के कई नाले व नगर पंचायतों का कूड़ा नदी में ही डाल दिया जाता है।व नदी किनारे बसी आधा सैकड़ा से अधिक ग्राम पंचायतों का कूड़ा करकट नदी में ही जाता है जिससे यह और भी गंदी हो गई है।

कच्ची शराब के साथ एक को भेजा जेल
हसनगंज कोतवाली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एक लोगों को 20 लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मोहान चैकी इंचार्ज प्रमोद यादव व हेड कांस्टेबल हृदय नारायण ने कस्बा मोहान के मोहल्ला आजाद नगर जोगियाना से सकील खान पुत्र वाहिद खान को 20 लीटर कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार किया। जहां से उसे कोर्ट में पेश किया गया और जेल भेज दिया गया।