29.1 C
Delhi
Homeउत्तर प्रदेशउन्नावKanpur : बैंक कर्मी की आई मौत की खबर, अब ट्रांसपोर्ट व्यापारी...

Kanpur : बैंक कर्मी की आई मौत की खबर, अब ट्रांसपोर्ट व्यापारी लापता, 10 दिन से गायब

- Advertisement -

2 सितंबर को दोस्त के साथ निकला था घर से, अभी तक नहीं लगा सुराग

कानपुर/अभिषेक वर्मा। नौबस्ता थानाक्षेत्र से तीन दिनों से लापता बैंक कर्मी की लाश बीते दिनों उन्नाव में मिली थी। अभी ये मामला शांत भी नहीं हुआ था कि क्षेत्र से एक और ट्रांसपोर्ट व्यापारी गायब हो गया है। व्यापारी 2 सितंबर को घर से अपने एक दोस्त के साथ निकला था जिसका अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है।

नौबस्ता थाने में 8 सितंबर को युवा ट्रांसपोर्ट व्यापारी की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिख ली है लेकिन ट्रांसपोर्ट व्यापारी कहाँ है और किस हालात में है इसका कुछ पता नहीं लगा है। परिवार अपने बेटे की खोज में लगातार थाने के चक्कर लगा रहा है। बढ़ती घटनाओं के बाद परिवार को डर है कि बेटे के साथ कोई अनहोनी न हुई हो।

दोस्तों के साथ घर से निकला था प्रियांशु

किदवई नगर के-ब्लॉक में राजकुमार पांडेय रहते हैं। जिनका ट्रांसपोर्ट का व्यापार है। घर मे पत्नी रीता पांडेय बड़ा बेटा प्रियांशु पांडेय (27) छोटा बेटा दिव्यांशु पांडेय और बहू प्रांजलि पांडेय रहती है। एक छोटी बेटी प्रांची पांडेय भी रहती है।

पिता राजकुमार पांडेय ने बताया कि 2 सितंबर को बड़ा बेटा प्रियांशु पांडेय जो ट्रांसपोर्ट का ही काम करता है अपने दोस्त हिमांशु और छोटू के साथ घर से गया था। प्रियांशु रात में घर नहीं लौटा तो पहले सोचा कि किसी काम से बाहर चला गया होगा। लेकिन उसके बाद देर रात से फोन भी बन्द आने लगा। राजकुमार ने बताया कि जिसके बाद दोस्त हिमांशु से पूछा तो उसने कहा कि मैंने प्रियांशु को टाट की पुलिया पर उसे छोड़ दिया था। उसके बाद कुछ नहीं पता।

पुलिस के कार्यप्रणाली पर उठाया सवाल

लापता व्यापारी की पत्नी प्रांजलि ने बताया कि जिस दिन पति घर से गए हैं उसी दिन रात डेढ़ बजे से फोन बंद आ रहा है। अभी तक कोई संपर्क नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने रिपोर्ट जरूर लिख ली है लेकिन अभी तक कोई अपडेट नहीं दिया है। पति की लास्ट लोकेशन तक पुलिस नहीं बता पाई है और न ही ये पता चला है कि उनको लास्ट बार किसने कॉल की।

उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया और कहा कि इससे लगता नहीं है कि पुलिस कुछ कर रही है। वहीं पिता ने कहा इससे पहले पुलिस कभी चौकी तो कभी थाने के चक्कर कटवाती रही 2 सितंबर के बाद से ही पुलिस के पास दौड़ रहे थे और 8 सितंबर को रिपोर्ट दर्ज हुई है।

कोरोना काल मे हुआ था काफी नुकसान

परिवार के एक सदस्य ने बताया कि कोरोना काल में प्रियांशु का व्यापार में काफी नुकसान हो गया था। मार्केट में देनदारी भी हो गयी थी। इनको लेकर प्रियांशु काफी परेशान रहने लगा था। कुछ दिनों पहले इस चक्कर में कुछ लोगों ने प्रियांशु के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी की थी।

जिसको लेकर भी प्रियांशु तनाव में रहता था। हालांकि हिमांशु को गायब हुए 10 दिन हो गए हैं लेकिन उसकी कोई खबर नहीं मिली है। अब परिवार उम्मीद लगाए है कि पुलिस उसके बेटे को ढूंढ लाएगी। वहीं नौबस्ता पुलिस का कहना है कि जल्द ही व्यापारी को खोज लिया जाएगा।

3 दिनों से लापता बैंककर्मी की मिली लाश

शुक्रवार को दही थाना क्षेत्र के सराय कटियान गांव के पास जंगल में ड्रम के अंदर एक शव मिला था। जिसकी शिनाख्त कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र के संजय नगर कॉलोनी मछरिया निवासी विशाल अग्रवाल 26 वर्ष पुत्र विष्णु प्रसाद के रूप में हुई थी। विशाल एचडीएफसी बैंक में कर्मचारी थे मंगलवार 7 सितंबर की सुबह बैंक गए थे।

शाम को फोन कर मां को बताया कि तबीयत ठीक नहीं है माल रोड डॉक्टर के पास दवा लेने जा रहे हैं. लेकिन देर रात तक नहीं आए फोन मिलाने पर फोन स्विच ऑफ था। परिवार ने जिसके बाद बुधवार की सुबह नौबस्ता थाने में जाकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। विशाल 3 दिनों से लापता था।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -