मीटर रीडर ने सैकड़ो उपभोक्ताओं का मीटर बदल और मीटर पर दर्ज रीडिंग में उपभोक्ताओं से की हिस्सा बांट

उन्नाव/शिवम : प्राइवेट ठेकेदार का आदर्श नगर में तैनात मीटर रीडर सैकड़ो उपभोक्ताओं का मीटर बदल और मीटर पर दर्ज रीडिंग में उपभोक्ताओं से हिस्सा बांट कर बिजली विभाग के राजस्व को लाखों की क्षति पहुंचा चुका है। ज्ञात हो कि बिजली विभाग में मीटर रीडिंग का काम प्राइवेट ठेकेदारों के जिम्मेदारी पर है प्रदेश स्तर से उठे ठेका के ठेकेदार ने जनपद में अपना पेटी कन्टेक्टर तैनात कर रखा है।

जिसके करिन्दे हर मोहल्ले में मीटर रीडिंग कर तुरन्त बिदूत विल बना देते है यह काम तो वेतन के बदले करते हैं तथा सरकारी कर्मचारियों के देखा देखी ऊपरी आय का चस्का इन मीटर रीडरों को भी लग गया है। जो एक साल दो साल से घरों मे लगे रीडिंग युक्त मीटर बदल उपभोक्ता से मीटर पर अंकित रीडिंग मे हिस्सा बांट कर खुद अतिरिक्त आय करते है, उपभोक्ताओं से चोरी कराते हैं और बिदूत विभाग के राजस्व को जमकर चूना लगाते है।

यह कुकृत्य मीटर रीडर सिर्फ आदर्श नगर में ही नहीं पूरे नगर में कर रहे हैं मोहल्ला आदर्श नगर क्षेत्र में तैनात मीटर रीडर हर माह यह खेल खेलता है आदर्श‌नगर निवासी एक उपभोक्ता ने बताया वगैर भुगतान का घर में लगे मीटर को बदलने के लिए आदर्श नगर का मीटर रीडर गत चार माह से दस हजार रुपये के बदले मीटर बदलने का दबाव बना रहा था।

क्योंकि मकान किराये पर उठा है लिहाजा मकान मालिक ने मीटर बदलने से इनकार कर दिया झल्लाऐ रीडर ने वगैर बिजली विभाग की अनुमति सहमति से कनेक्शन काट गया। जबकि अधिशाषी अभियन्ता पीडी नगर के कार्यालय मेंपता करने परपता चला कि उक्त कनेक्शन के विच्छेदन की कहीं से कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है यह कुकृत्य बिजली विभाग मे मीटर रीडर के रुप में तैनात बहुरुपिए की ब्यक्तिगत कार्य वाही है। मकान मालिक ने अपना विल समाधान योजना मे पंजीकृत करा चुका है जिसने मीटर रीडर पर विधि विरुद्ध कार्य करने पर कार्यवाही की मांग किया।