संदिग्ध परिस्थितियों में युवक ने लगायी फांसी

उन्नाव/शिवम शुक्ला : शहर के मोहल्ला आवास विकास कालोनीए ब्लाक स्थित 22 वर्षीय नवयुवक अमन पांडेय का संदिग्ध अवस्था में शव घर के ही कमरे में फांसी के फंदे पर झूलता मिला। मौत के लिए फांसी का रास्ता क्यो, किन कारणो से चुना। घटना को देखते हुए यह स्वयं में राहस्यमय बना हुआ है। घर के सदस्यो को रो-रो कर बुरा हाल है। लगभग दो वर्ष पूर्व अमन के बड़े भाई ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या की थी। जिस कमरे में उनका शव मिला था वहीं पर अमन ने भी मौत को गले लगाया।


जानकारी के अनुसार मृतक के पिता कमलेश पांडेय ने अपने दोनो पुत्रो को बड़े अरमान के साथ पढ़ा लिखाकर बड़ा किया था। मृतक अमन की 7 माह पहले ही सीतापुर निवासी गुंजन के साथ शादी हुयी थी। गुंजन पति अमन की इस तरह हुयी मौत से सदमे में है। वर्तमान समय में मृतक अपने पिता के साथ मेडिकल स्टोर में बैठता था। पिता भी घटना के बाद से हतप्रभ है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम कराया।

घर में फांसी लगा रहे युवक को परिजनो ने रोका, हालत गंभीर
आसीवन थाना क्षेत्र में युवक ने अज्ञात कारणों के चलते घर में फांसी लगा ली तभी परिजनों ने देख लिया और रस्सी काट कर नीचे उतार कर मियागंज अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डाक्टर ने उसकी हालत नाजुक होने पर ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। आसीवन कस्बा निवासी दिलीप कुमार पुत्र अशोक कुमार 25 सोमवार को किसी बात पर नाराज हो कर घर के अंदर फासी लगा ली| परिजनों ने युवक को लटकते हुए देख लिया और उसे नीचे उतारा, तब तक उसकी हालत खराब हो गयी थी| जिसे गभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया|