यूपी: कानपुर में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने गुरुओं के पैर छूकर लिया आशिर्वाद

0
78

सेंट्रल डेस्क : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कानपुर में उस डीएवी कॉलेज में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा का अनावरण किया जहां के वह छात्र थे। राष्ट्रपति ने इस अवसर पर कहा कि सिर्फ शिक्षण संस्थाएं ही गरीबी, अराजकता, नस्लवाद व आतंकवाद रहित भारत दे सकती हैं। इस अवसर पर रामनाथ कोविन्द ने अपने तीन गुरुओं का सम्मान पैर छूकर किया।

इस नजारे को देख आह्लादित छात्र-छात्राओं से लेकर बुजुर्ग खुद को रोक नहीं सके और राष्ट्रपति का अपने शिक्षकों के प्रति ऐसा प्रेम देख खड़े होकर करतल ध्वनि से स्वागत किया। भाव विह्लल गुरुओं ने अपने शिष्य को गले लगाकर जीभरकर आशीर्वाद दिया। गुरु-शिष्य सम्मान व प्रेम के ये अद्भुत क्षण बीएनएसडी शिक्षा निकेतन में आयोजित पूर्व छात्र सम्मेलन में दिखाई दिए।

सोमवार को बीएनएसडी शिक्षा निकेतन के प्रांगण में राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने अपने तीन पूर्व अध्यापकों त्रिलोकी नाथ टंडन,हरि राम कपूर एवं प्यारे लाल वर्मा को सम्मानित किया। त्रिलोकी नाथ टंडन गणित के अध्यापक थे। हरिराम कपूर एकाउंट्स के अध्यापक थे और प्यारे लाल वर्मा कामर्स पढ़ाते थे। दो अध्यापकों के लिए मंच पर कुर्सी लगवाई गई और राष्ट्रपति ने अंगवस्त्र पहनाने के बाद दोनों के चरण छुए।

96 वर्ष के प्यारेलाल मंच पर आने में असमर्थ थे तो राष्ट्रपति खुद मंच से नीचे आए। अपने वयोवृद्ध गुरु के चरण स्पर्श किए और उनसे आशीर्वाद लिया। राम नाथ कोविंद ने कहा कि अपने गुरुओं को सम्मानित कर वह स्वयं गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।